क्रिस्मस् / बड़ा दिन

परमेश्वर हमारे साथ है! क्रिसमस यीशु का जन्मदिन है! हर साल 25 दिसंबर को, दुनिया भर में लोग यीशु के जन्म का जश्न मनाते हैं। परमेश्वर मनुष्य बनकर पृथ्वी पर हमें बचाने के लिए आया, इसलिए हम ख़ुशी मनातें हैं और यही क्रिसमस का सन्देश है! यीशु पैदा हुआ है! यूसुफ ने मरियम से अपनी सगाई क्यों नही तोड़ी? मरियम …

ईस्टर

यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है? ईसाइयों के लिए, ईस्टर वर्ष का सबसे महत्वपूर्ण समय है। ईस्टर में हम याद करते है कि मर कर वापस आने के बाद यीशु के साथ क्या हुआ। यीशु ने हमारे पाप के लिए दंड का भुगतान किया, और फिर उसने पाप की शक्ति पर विजय प्राप्त की ताकि हम पाप के प्रमुख परिणाम से …

जल बपतिस्मा

आपके विश्वास का प्रदर्शन बपतिस्मा लेने का मतलब है पानी में डुबकी लगाकर ऊपर आना। बाइबल में, कई लोगों को यह दिखाने के लिए बपतिस्मा दिया गया था कि उन्होंने अपना जीवन बदल दिया है। मसीहियों को मसीह की आज्ञाकारिता के कदम के रूप में बपतिस्मा दिया जाता है, सार्वजनिक रूप से यह दिखाने के लिए कि वे यीशु पर …

यौन पवित्रता

स्त्री पुरुष का सम्बन्ध इतना शक्तिशाली है कि परमेश्वर हमें यौन अनैतिकता के बारे में चेतावनी देते हैं   “यौन अनैतिकता” ग्रीक शब्द “पोर्नियो” का अंग्रेजी अनुवाद है, जिसका उपयोग नए नियम की मूल भाषा में किया गया है। “पोर्नियो” विवाह से बाहर सभी प्रकार की यौन गतिविधियों को संदर्भित करता है। इन वचनों मे स्त्री पुरुष के सम्बन्ध को …

पवित्र आत्मा

हमारा सहायक और हमे शक्ति देने वाला यीशु के स्वर्ग लौटने से पहले, उसने अपने शिष्यों से कहा कि पवित्र आत्मा उनकी सहायता करने और उन्हें सशक्त बनाने के लिए आएगा। पवित्र आत्मा परमेश्वर है, जिस प्रकार पिता और पुत्र, यीशु, परमेश्वर हैं हम व्यक्तिगत रूप से पवित्र आत्मा से संबंधित हो सकते हैं। वह पहले से ही आपको परमेश्वर …

कृपा

परमेश्वर की हमारे प्रति अयोग्य कृपा अनुग्रह किसी बलवान द्वारा किसी अयोग्य कमज़ोर को दिखाई गयी दया है। हम एक कहानी पढ़कर ईश्वर की कृपा के बारे में जानेंगे जहां यीशु ने सचमुच एक महिला को मारे जाने से बचाया था। यीशु के माध्यम से, परमेश्वर ने हमें उनकी कृपा दिखाई और इसे हमें उपलब्ध कराया। एक स्त्री पर यीशु …

पाप क्या है?

Missing the Mark The original word for sin means, “to miss the mark”, like in archery. It says in the Bible that, “all of us have sinned and fallen short of God’s glory” पाप उन सभी गलत चीजों को संदर्भित करता है जो हमने कहा, किया या सोचा है। पाप की लड़ाई हम पाप क्यों करते हैं? यीशु ने पाप …

ज़क्कई

ढूँढ़ने वाला पाया गया ज़क्कई एक आदमी था जो एक पेड़ पर चढ़ गया ताकि वह यीशु को देख सके। लेकिन यीशु भी जक्कई की तलाश कर रहा था – और उस दिन उसका जीवन बदल गया था! येशु को ढूढ़ने वाला आपके विचार में जक्कई किस तरह का व्यक्ति था? आपके विचार में जक्कई को येशु में दिलचस्पी क्यों …

जीवन की नींव

चट्टान पर “निर्माण” यीशु ने बाइबल में कई बातें सिखाईं जो हमारे जीवन में हमारी मदद कर सकती हैं। इस कहानी में जो यीशु ने बताई थी, हम सीख सकते हैं कि एक मजबूत नींव पर हमारे जीवन का निर्माण कितना महत्वपूर्ण है। आपके जीवन का निर्माण आपके विचार से, इस कहानी में घर किसको दर्शाता है ? इस कहानी …

यीशु कौन है?

परमेश्वर एक मनुष्य बना। पृथ्वी पर रहने वाले मनुष्यों में यीशु की गिनती सबसे प्रसिद्ध लोगो में होती है। लेकिन वह सिर्फ एक मनुष्य नहीं है, उसने जो अद्भुत चीजें कीं और जो परिपूर्ण जीवन जीया वह दर्शाता है कि वह परमेश्वर है। अब सवाल ये है कि – परमेश्वर पृथ्वी पर क्यों आये और मनुष्य क्यों बने ? 100% …