मसीह में आपकी नई पहचान

यहां मत्ती 4:1-11 हम इस बारे में पढ़ सकते हैं कि कैसे शैतान ने यीशु की पहचान को चुनौती दी। जब भी शैतान ने कोशिश की, यीशु ने उसकी पहचान के बारे परमेश्वर के वचन में कि सच्चाई का उपयोग किया। हमारी पहचानों को उसी तरह से चुनौती दी जाएगी, और यीशु की तरह, हमें अपनी पहचान की सच्चाई को बचाने के लिए परमेश्वर के वचन को जानना और उपयोग करना चाहिए।

मैं स्वीकार किया गया हूँ

चर्चा कीजिये – स्वीकृति का मुद्दा इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

Read the verses and make “I” statements.

इनमे से कौन सा पद आपके लिए उभर कर आता है ?

मै सुरक्षित हूँ

चर्चा कीजिये – असुरक्षा हमारे जीवन को कैसे प्रभावित कर सकती है?

Read the verses and make “I” statements.

आपके लिए कौन सा पद विशेष है और क्यों?

मैं महत्वपूर्ण हूँ?

चर्चा कीजिये – महत्वपूर्ण महसूस करना हमारे लिए ज़रूरी क्यों है?

Read the verses and make “I” statements.

आज कौन सा पद आपको प्रेरित करता है?

दोस्त से पूछें

क्या ऊपर पढ़े गए किस वचन ने आपका जीवन को बदल दिया है? हमें बताएं।

आवेदन

इन सत्य वचनो से हम अपने आप पर अधिक विश्वास कैसे कर सकते हैं?

हम खुद को कैसे बदल सकते हैं?

मॉडल प्रार्थना

प्रभु यीशु, मुझे एक नया व्यक्ति बनाने के लिए धन्यवाद। मैं आपको धन्यवाद देता हूं कि मैं आपके द्वारा स्वीकार किया गया हूं, आप में सुरक्षित हूं और आप में मेरा जीवन महत्वपूर्ण है। मुझे विश्वास है कि मैं ___________ हूं। धन्यवाद!

प्रमुख पध

इस अध्ययन से एक या एक से अधिक छंदों को याद करके खुद चुनें।